राज्य कृषि प्रबन्ध संस्थान

रहमानखेड़ा, लखनऊ, उत्तर प्रदेश

परीक्षण का उद्देश्य

फार्म मशीनरी की बढ़ती मांग ने कृषि मशीनरी के उत्पादन कर्ताओं को प्रोत्साहित किया है। फार्म मशीनरी में भारी निवेश के साथए विभिन्न निर्माताओं द्वारा लायी जा रही मशीनों के गुणवत्ता का परीक्षण करना आवश्यक है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्थापित इस संस्थान की परीक्षण शाखाए निर्माताओं और कृषि उपकरण के उपयोगकर्ताओं के साथ.साथ अन्य एजेन्सियों के बीच एक महत्वपूर्ण कड़ी के रूप में कार्य करती हैए इसका उत्तरदायित्व नीचे दिये गये उद्देश्यों के साथ कृषि उपकरणों का परिचय देना और उनको लोकप्रिय बनाना है।

  1. देश में निर्मित या आयात किये गये कृषि यंत्रोंए स्थिर इंजनए पम्प और कृषि मशीनरी का परीक्षण इस उद्देश्य से करना ताकि कार्यात्मक उपयुक्तता और गुणवत्ता का आंकलन किया जा सकें ताकि निर्गत परीक्षण रिपोर्ट निम्न उद्देश्यों को पूर्ण कर सकें
    1. भारतीय परिस्थितियों में सबसे उपयुक्त मशीन के प्रकार को तय करने के लिये आधार के रूप में कार्य करें जिसको आयातए उत्पादन और लोकप्रियता के लिये प्रोत्साहित किया जा सके।
    2. बाजार में उपलब्ध मशीनों के तुलनात्मक प्रदर्शन का निर्धारण करने के लिये किसानों और अन्य सम्भावित खरीददारों की सहायता करें।
    3. किसानों एवं अन्य खरीददारों के लिये उपकरणों के समुचित चयन में मार्गदर्शन करने हेतु अभियन्ताओं और प्रसार कार्यकर्ताओं को सामग्री प्रदान करना ।
    4. निर्माताओं और वितरकों द्वारा उपयोग किये जाने वाले मानक के निर्धारण हेतु आधार प्रस्तुत करना।
    5. निर्माताओं और किसानों दोनों को वित्तीय सहायता हेतु संस्तुति करने में वित्तीय संस्थानों की मदद करना।
  2. मशीनों और यंत्रों का परीक्षण जो विश्व के अन्य क्षेत्रों में सफल साबित हुए हैंए ताकि देश में उनकी शुरूआत की सम्भावना का परीक्षण किया जा सके।
  3. बैच परीक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से कृषि टेªक्टरों और अन्य चुनिन्दा कृषि मशीनों की गुणवत्ता को बनाये रखना और बुद्धनी संस्थान के सहयोग से नवीनतम माॅडल पर किये गये परीक्षण के आधार पर विशेष विवरणों को आधुनिक बनाने के लिये उत्पादकता और समग्र उत्पाद सुधारों में निर्माताओं की सहायता प्रदान करना।
  4. फील्ड से प्राप्त शिकायतों की प्रकृति और बिक्री के पूर्व और बाद की सेवा सुविधाओं के मानक पर उपयोगकर्ता के सर्वेक्षण के माध्यम से निर्माताओं को प्रतिक्रिया उपलब्ध कराना।
  5. अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुसार परीक्षण के अनुसार कृषि मशीनों के निर्यात को बढ़ावा देना।
  6. राष्ट्रीय मानक ब्यूरो को कृषि मशीनों के परीक्षण में दायरा प्रमाणन अंक योजना; स्कोप सर्टीफिकेशन मार्क योजनाद्ध के अन्तर्गत आच्छादित करने के लिये मानक तैयार करने हेतु सहायता प्रदान करना।
  7. चयनित कृषि मशीनरी और यंत्रों पर अनुसंधान और विकास कार्य।

परीक्षण इकाई निम्न हेतु एक विशिष्ट निष्पक्ष एजेंसी के रूप में कार्य करती हैः-
निर्माता

  • विकास और उत्पादन माॅडल दोनों के लिये अपने उत्पाद का मूल्यांकन करना।
  • प्रदर्शन रिपोर्टों के आधार पर परीक्षण संस्थान की सलाह प्राप्त करना और अपने उत्पादों में निरन्तर सुधार।
  • अपने उत्पाद को सुधारने के लिये अन्य निर्माताओं की समान मशीनों के प्रदर्शन पर एक प्रमाणिक आंकड़ा प्राप्त करना।
  • परीक्षण संस्थान द्वारा जारी परीक्षण प्रतिवेदन के माध्यम से बिक्री में गति लाना। इसका उपयोग विशेष परिस्थितियों में विज्ञापन मीडिया के रूप में किया जा सकता है।
  • तकनीकी साहित्य जेसे सेवा नियमावली, प्रदर्शन डाटा शीट इत्यादि में सुधार।
  • अपनी मशीन प्रदर्शन के लिये अपने दावे का समर्थन करने के लिये स्वतंत्र साक्ष्य प्रदान करना।
क्रेता/ उपयोगकर्ता:
  • निश्चित संचालन के लिये इस्तेमाल होने वाली मशीन के प्रकार पर निर्णय लेने के लिये दिशानिर्देश प्राप्त करना।
  • व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनरूप विशिष्ट मशीन का चयन जहाँ विभिन्न ब्राण्डों का विकल्प मौजूद है।
  • क्रेता/ उपयोगकर्ताओं को परीक्षण संस्थान द्वारा समय-समय पर जारी रिपोर्टों की सदस्यता लेकर उन्हें अपडेट (आधुनिक) करना।