राज्य कृषि प्रबन्ध संस्थान

रहमानखेड़ा, लखनऊ, उत्तर प्रदेश

  नवीन गतिविधियाँ
    कोई सक्रिय रिकॉर्ड नहीं है!
  प्रशिक्षण कैलेंडर
    No active course available!

कृषक प्रशिक्षण एवं क्षमता विकास
कृषि प्रसार के क्षेत्र में हमेशा मानव बल की आवश्यकता होती है, क्योंकि कृषि प्रसार में किसान गोष्ठी, कृषक वैज्ञानिक प्रशिक्षण अंतरमिलन कार्यक्रम, प्रक्षेत्र दिवस, आदि करने होते हैं, ताकि कृषकों का क्षमता विकास एवं ज्ञानवर्धन हो सके

जैव उर्वरकों (कल्चर) का उत्पादन
भूमि की उर्वरता को टिकाऊ बनाए रखते हुए सतत फसल उत्पादन के लिए कृषि वैज्ञानिकों ने प्रकृतिप्रदत्त जीवाणुओं को पहचानकर ... फसलों में जैव उर्वरकों इस्तेमाल करने से वायुमण्डल में उपस्थित नत्रजन पौधो को (अमोनिया के रूप में) सुगमता से उपलब्ध होती है

बीज उत्पादन का कार्य
कृषि उत्पादन में बीज का महत्वपूर्ण योगदान है । एक ओर ''जैसा बोओगे वैसा काटोगे'' यह मर्म किसानों की समझ में आना चाहिए इसलिए अच्छी किस्म के बीजों का उत्पादन जरूरी है । दूसरी ओर सर्व गुणों युक्त उत्तम बीज की कमी रहती है ।

फार्म मशीन
कृषि प्रसार के क्षेत्र में हमेशा मानव बल की आवश्यकता होती है, क्योंकि कृषि प्रसार में किसान गोष्ठी, कृषक वैज्ञानिक प्रशिक्षण अंतरमिलन कार्यक्रम, प्रक्षेत्र दिवस, आदि करने होते हैं, ताकि कृषकों का क्षमता विकास एवं ज्ञानवर्धन हो सके

औषधि शोध
कृषि उत्पादन में बीज का महत्वपूर्ण योगदान है । एक ओर ''जैसा बोओगे वैसा काटोगे'' यह मर्म किसानों की समझ में आना चाहिए इसलिए अच्छी किस्म के बीजों का उत्पादन जरूरी है । दूसरी ओर सर्व गुणों युक्त उत्तम बीज की कमी रहती है ।

प्रसार कार्यकर्ता प्रशिक्षण
भूमि की उर्वरता को टिकाऊ बनाए रखते हुए सतत फसल उत्पादन के लिए कृषि वैज्ञानिकों ने प्रकृतिप्रदत्त जीवाणुओं को पहचानकर ... फसलों में जैव उर्वरकों इस्तेमाल करने से वायुमण्डल में उपस्थित नत्रजन पौधो को (अमोनिया के रूप में) सुगमता से उपलब्ध होती है